Kisan andolan news: किसान आंदोलन में 11 लोगों की मौत का खुलासा, राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना और कहा- और कितनी आहुतियां देनी पड़ेगी

Kisan andolan news: किसान आंदोलन में 11 लोगों की मौत का खुलासा, राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना और कहा- और कितनी आहुतियां देनी पड़ेगी

Kisan Andolan news: किसान आंदोलन में 11 लोगों की मौत का खुलासा, राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना और कहा- और इतनी आहुतियां देनी पड़ेगी | किसान आंदोलन को शुरू हुए आज तक 16 दिन हो चुके हैं परंतु अभी तक किसी भी प्रकार का कोई समाधान नजर नहीं आ रहा है इन सब के बीच अब तक 11 किसानों ने अपनी जान गवा दी है इसके मद्देनजर राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है और उन्होंने कहा मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अब तक 11 किसान भाइयों की मौत हो चुकी है राहुल गांधी ने कहा कि मैं सरकार से पूछना चाहता हूं कि अब तक और कितनी आहुतियां की जरूरत पड़ेगी आखिर केंद्र सरकार अपने फैसले को वापस क्यों नहीं ले रही है|

क्या किसान गलत है

एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अब तक हुए Kisan Andolan में पंजाब और हरियाणा के अलग-अलग हिस्सों से 11 किसान भाइयों की मौत हो चुकी है कुल मिलाकर अब तक 11 किसानों की मौत हो चुकी है वही पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था किस किसान आंदोलन में मारे गए लोगों के परिजनों को उचित मुआवजा दिया जाएगा|

क्या सरकार गलत है

वही केरल सरकार के वायनाड में सांसद ने एक अखबार की कटिंग शेयर करते हुए लिखा था कृषि कानूनों को हटाने के लिए हमारे किसान भाइयों को और कितने आहुति देनी पड़ेगी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष द्वारा शेयर की गई खबर में दावा किया गया है कि अब तक Kisan Andolan 11 किसानों की मौत हो चुकी है और उनके नाम भी सार्वजनिक कर दिए गए जिसमें पन्ना सिंह, जनक राज सिंह, गजेंद्र सिंह, गुर्जर सिंह, लखबीर सिंह, सुरेंद्र सिंह, मेवा सिंह, राममेहर, अजय कुमार, किताब सिंह और कृष्ण लाल गुप्ता की मौत हो चुकी है|

या सरकार द्वारा लाए गए कानून गलत है

कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने सरकार पर निशाना लगाते हुए कहा है कि सरकार चाहती है कि सभी किसानों की आय बिहार के किसानों की आय जितनी हो जाए इससे पूर्व भी राहुल गांधी ने केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ कई किसान संगठनों के विरोध प्रदर्शन की पृष्ठभूमि में शुक्रवार को आरोप लगाया था कि देश की कृषक पंजाब के किसानों के बराबर आमदनी चाहते हैं लेकिन केंद्र सरकार उनकी आय बिहार के किसानों के बराबर करना चाहती है|

वही राहुल गांधी ने विभिन्न प्रदेशों में प्रति कृषक औसत आय से जुड़ा हुआ एक ग्राफ भी साझा किया है उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल में कहा है कि किसान चाहता है कि उसकी आय पंजाब के किसानों की आय जितनी हो जाए और मोदी सरकार चाहती है कि देश के सब किसानों की आय बिहार के किसानों की आय कितनी हो जाए आपको पता होगा कि इस समय बिहार के किसानों की आय सबसे कम है और किसानों में सबसे अधिक आय की बात की जाए तो पंजाब के किसान थोड़े अधिक समृद्ध है|

आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरूर दें

 

साझा की गई ग्राफ के मुताबिक पंजाब में प्रति किसान आमदनी ₹216508 वार्षिक हैं जो देश में सबसे ज्यादा है इस ग्रुप में यहां भी दर्शाया गया है कि बिहार में प्रति किसान औसत आय ₹42684 वार्षिक है जो देश के कई राज्यों के मुकाबले बहुत कम है|

 

 

किसान आंदोलन को अब तक 16 दिन हो चुके हैं लेकिन अब उम्मीद की जा रही है कि केंद्र सरकार जल्द ही अपने फैसले पर कोई कदम उठा सकती हैं क्योंकि अगर समय रहते कुछ नहीं किया गया तो आने वाले समय में इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं आपको पता होगा कि कितने सारे हाईवे इस किसान आंदोलन की वजह से बंद पड़े हैं तो कहीं ना कहीं सरकार पर भी आर्थिक नुकसान के बादल मंडरा रहे हैं इस कारण सरकार अब इस विषय के प्रति बहुत गंभीर है और आने वाले समय में इसका समाधान निकल सकता है|

For More Update:- Click Here

Leave a Comment