Rajasthan : फिर हुई सचिन पायलट के सीएम बनने की चर्चा तेज,अहमद पटेल के जाने के बाद CM गहलोत को दिल्ली बुलाने की तैयारी !

राजस्थान की राजनीति में एक बार फिर से नए बदलाव को लेकर चर्चा शुरू हो चुकी है सूत्रों से आई खबर को मानें तो अहमद पटेल के स्थान पर सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को उनकी जगह लाने की बात कही जा रही है और सूबे के मुखिया के रूप में सचिन पायलट को उनकी जगह लाने की बात कही जा रही है।

जयपुर

राजस्थान के अंदर एक बार फिर से राजनीतिक गलियारों में हलचल शुरू हो चुकी है अहमद पटेल के निधन के बाद यह चर्चा शुरू हो गई थी लेकिन अब इन चर्चाओं ने जोर पकड़ लिया है अशोक गहलोत सचिन पायलट के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर एक बार फिर से चर्चाओं को हवा मिल चुकी है।

एक बार फिर से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ ऐसा दांव चला गया है ना तो स्वीकारते बन रहा है और ना ही ऐसा नकारते बन रहा है पिछली बार जब राजस्थान में राजनीतिक परिवर्तन का मुद्दा उठा था उस समय अशोक गहलोत ने अपने राजनीतिक अनुभव से सचिन पायलट को हिट विकेट करवा कर चीफ सिक्योरिटी का पद सुरक्षित कर लिया था लेकिन कहते हैं कि हमेशा परिस्थितियां एक जैसी नहीं होती है अहमद पटेल के निधन के बाद दिल्ली में केंद्रीय आलाकमान के लिए एक ऐसे परिपूर्ण व्यक्ति की जरूरत है जो मजबूत भी हो मेच्योर भी। कांग्रेस का मानना है कि बहुत समय तक इस पद को खाली भी नहीं रखा जा सकता किसी न किसी को इस पद को भरना पड़ेगा, दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के प्रत्येक व्यक्ति पर इस नजरिए से नजर दौड़ाई गई लेकिन कोई भी व्यक्ति इस पद के लिए फिट नहीं बैठ रहा है जिसे अहमद पटेल की भूमिका में रखा जा सके।

बस यही सही अशोक गहलोत का नाम उछालना शुरू हो चुका है इसी को लेकर अब अशोक गहलोत को उस पद को के लिए जिम्मेदारी दी जाने की बात कही जा रही है कहां जा रहा है की अहमद पटेल की जगह को भरने के लिए जिस गुणों वाला व्यक्ति चाहिए वह गुण अशोक गहलोत में है।

20201216 172926 min6282653894905459614

अहमद पटेल की जगह अशोक गहलोत को ही क्यों

माना जा रहा है कि क्योंकि गहलोत अहमद पटेल के भी बहुत ही विश्वासपात्र रहे हैं। ऐसे में भी उन्हें अहमद पटेल की जगह देखा जा रहा है। यह भी कहा जाता रहा है कि गहलोत सरकार के संकट में आने के बाद अहमद पटेल की कांग्रेस और गहलोत दोनों के लिए खेवनहार बने थे। इके अलावा भी बहुत से ऐसे कारण है, जिससे कांग्रेस पार्टी चाहता है कि अशोक गहलोत राजस्थान छोड़ अब दिल्ली आ जाएं। कांग्रेस केन्द्रीय नेतृत्व की ओर से कहा जा रहा है कि गहलोत को राजस्थान से दिल्ली शिफ्ट कर देना चाहिए और राजस्थान में सचिन पायलट को सरकार की कमान सौंप देनी चाहिए।

अशोक गहलोत अबकी बार फंसे जंजाल में

और इधर अशोक गहलोत एक बार फिर से नए जंजाल में फंस चुके हैं अशोक गहलोत राजस्थान को छोड़ना नहीं चाहते हैं लेकिन पार्टी को मना भी नहीं कर सकते हैं उनके सामने अपने बेटे को स्टेट पॉलिटिक्स में स्थापित करने की भी चुनौती है। अहमद पटेल की जगह लेने पर अशोक गहलोत किंग मेकर तो बन सकते हैं लेकिन उन्हें किंग की कुर्सी छोड़नी पड़ेगी।उन्हें अब यह समस्या नजर आ रही है कि अगर पार्टी के आलाकमान की तरफ से कोई ऐसा मैसेज आ गया तो उनके लिए गंभीर विषय बन जाएगा

Leave a Comment